उत्तराखंड राज्य में अलग-अलग जनजाति और वर्ग के नागरिक निवास करते हैं। उत्तराखंड राज्य सरकार अपने राज्य के असहाय बेसहारा और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के नागरिकों की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए हर वर्ष राशन कार्ड जारी करती है।

उत्तराखंड राशन कार्ड एक बहुत ही महत्वपूर्ण दस्तावेज है जिसके माध्यम से राज्य के सभी गरीब और असहाय नागरिक सस्ते दामों पर खाद्य सामग्री जैसे- गेहूं, चावल, चीनी, केरोसिन आदि प्राप्त करके अपना व अपने परिवार का पालन-पोषण बिना किसी समस्या के कर सकते हैं।

लेकिन नागरिकों को Uttarakhand ration card बनवाने के लिए सरकारी दफ्तरों में घंटो अपना समय बर्बाद करना पड़ता है। इस समस्या को ध्यान में रखते हुए उत्तराखंड के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने राशन कार्ड बनवाने की पूरी प्रक्रिया को ऑनलाइन मोड़ पर कर दिया है।

उत्तराखंड राशन कार्ड राज्य के सभी परिवारों की आय के आधार पर परिवार के मुखिया के नाम पर जारी किया जाने वाला एक बहुत ही महत्वपूर्ण दस्तावेज है जो खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग उत्तराखंड सरकार के द्वारा सभी नागरिकों के लिए उपलब्ध कराया जाता है.

गर आपकी आयु 18 वर्ष या उससे अधिक है तो आप अपना Uttarakhand ration card बनवाने के लिए आवेदन कर सकते हैं। उत्तराखंड राशन कार्ड खास तौर पर राज्य के गरीब और बेसहारा परिवारों को सस्ते दामों पर खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए जारी किया जाता है।

उत्तराखंड राज्य सरकार अपने राज्य के गरीब नागरिकों की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए नियमित रूप से कई योजनाओं का संचालन कर रही है, इन योजनाओं का लाभ नागरिकों तभी मिलता है जब उनके पास राशन कार्ड होता है।

उत्तराखंड राशन कार्ड बनवाने के लिए आप ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते है. 

उत्तराखंड राशन कार्ड  के बारे में अधिक जानकारी के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें?