दोस्तों, सबसे पहले एईपीएस (AEPS) की फुल फार्म जान लेते हैं। इसकी फुल फार्म (full form) है- आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (aadhar enabled payment system)। यानी मूल रूप से यह एक आधार आधारित भुगतान प्रणाली/सेवा (aadhar based payment system/service) है।

इसके जरिए बैंक ग्राहक अपने आधार कार्ड नंबर के जरिए संबंधित आधार सक्रिय बैंक खाते की एक्सेस ले सकते हैं और सामान्य बैंकिंग लेन-देन (banking transactions) कर सकते हैं। उन्हें इसके लिए किसी पिन अथवा पासवर्ड (PIN/password) की आवश्यकता नहीं।

दोस्तों, अब आते हैं एईपीएस के उद्देश्य पर। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इसका उद्देश्य बैंकिंग से वंचित क्षेत्रों के लोगों तक बैंकिंग सेवाएं (banking services) मुहैया कराना है।

इन दिनों मोबाइल एप्स का जमाना है। केवल एक एप अपने मोबाइल पर डाउनलोड करके लोग आसानी से तमाम सुविधाओं का लाभ उठाते हैं। आपको बता दें दोस्तों कि एईपीएस का भी एक मोबाइल एप एईपीएस इंडिया (AEPS India) है। जिस पर रजिस्ट्रेशन कर आधार कार्ड नंबर के जरिए भुगतान किए जा सकते हैं।

इस एप को एंड्रॉयड यूजर्स (android users) गूगल प्ले स्टोर (Google Play Store) से डाउनलोड (download) कर सकते हैं। आपको बता दें दि इस एप को 2019 में रिलीज किया गया था एवं 2020 में इसे अपडेट (update) किया गया है।

स्पीड स्लो (speed slow) होने की वजह से इस सेवा का लाभ ग्राहक नहीं ले सकेंगे। तीसरे यदि संबंधित क्षेत्र के ग्राहकों अथवा बीसी (BC) को एईपीएस की पूरी जानकारी नहीं तो भी वह इसका लाभ नही ले सकेंगे।

बैंकों को दूर दराज के क्षेत्र तक बैकिंग एवं वित्तीय सेवाएं पहुंचाने के लिए बिचौलियों के रूप में सर्विस प्रोवाइडर्स का इस्तेमाल करने की सुविधा दी। इन्हें बिजनेस फेसिलिटेटर (business facilitator) अथवा बैकिंग कारेस्पोंडेंट (banking correspondent) पुकारा जाता है।

एईपीएस क्या होता है? फुल फॉर्म, सर्विसेज अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करे?