उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने राज्य के किसानों की आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने के लिए पारदर्शी किसान सेवा योजना की शुरुआत की हैं। जिसके बारे में आज हम आपको विस्तार से जानकारी साझा करने जा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश के किसानों द्वारा मुख्य रूप से गेहूं, चावल, गन्ना, आलू आदि का उत्पादन किया जाता है और इस उत्पादन दर में और भी वृद्धि करने के लिए तथा किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करने उत्तर प्रदेश कृषि विभाग द्वारा पारदर्शी किसान सेवा योजना का प्रारम्भ किया है।

जिसके तहत प्रदेश के किसानों को कृषि संबंधी अनुदान आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान किया जायेगा। और इसके अलावा भी बहुत से उत्पादन में वृद्धि करने के तरीके और उनसे संबंधित सेवाएं उपलब्ध करायी जायेगी।

पारदर्शी किसान सेवा योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के हित में चलायी रही योजना है। जिसका मुख्य उद्देश्य की उत्पादन दर में वृद्धि करने है और उनकी आय में वृद्धि करने है जिससे प्रदेश में हो रहे खाद्य पदार्थों में पूर्ति होगी।

जिसके लिए प्रदेश सरकार द्वारा कृषि करने के लिए नयी – नयी तकनीकों का प्रचार – प्रसार किया जायेगा और प्रदेश में पड़ी बंजर और जलमग्न होने वाली कृषि भूमियों को कृषि योग्य बनाया जायेगा। जिसके लिए सरकार द्वारा हर संभव प्रयास को करने के लिए कहा गया है।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 2022 तक भारत के किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य रखा है, जिसे पूरा करने के लिए भारत सरकार और सभी राज्य सरकार विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन कर रही हैं।

भारत सरकार के इसी उद्देश्य को पूरा करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने पारदर्शी किसान सेवा योजना की शुरुआत की हैं।

पारदर्शी किसान सेवा योजना की अधिक जानकारी के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें?