शुक्रवार को केंद्र सरकार ने संपूर्ण डाक जीवन बीमा ग्राम योजना की शुरुआत की है। इसके साथ ही भारतीय डाक जीवन बीमा योजना का भी विस्तार किया है।

केंद्र की संपूर्ण डाक जीवन बीमा ग्राम योजना के अंतर्गत प्रत्येक जिले से कम से कम 100 परिवार वाले एक ग्राम का चयन किया जाएगा।

इस योजना के बारे में संचार मंत्री मनोज सिन्हा ने बताया कि इस योजना के अंतर्गत चयनित गांव के हर परिवार के एक व्यक्ति को ग्रामीण डाक बीमा योजना के अंतर्गत लाया जाएगा।

इस योजना का लाभ केवल सरकारी और अर्ध सरकारी कर्मचारी ही नहीं बल्कि डॉक्टरों, इंजीनियरों, प्रबंधन सलाहकारों, वकीलों, बैंक कर्मियों, अकाउंटेंट और वास्तुकारों जैसे पेशेवर कर्मचारियों के लिए भी उपलब्ध रहेगा।

संपूर्ण डाक जीवन बीमा ग्राम योजना के अंतर्गत निजी बीमा की तुलना में सम्पूर्ण डाक बीमा का शुल्क काफी कम रहेगा और लाभांश अधिक रहेगा।

भारतीय डाक बीमा योजना की शुरुआत 1984 में की गई थी। तब इस योजना के अंतर्गत मुख्य तौर पर सरकारी और अर्ध सरकारी कर्मचारियों को लाभ प्राप्त होता था।

जिसके बाद 24 मार्च 1995 में मल्होत्रा समिति की सिफारिशों के बाद इस योजना का विस्तार करते हुए। इसके अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को भी बीमा कवर प्रदान किया जाने लगा।

हाल में ही प्राप्त जानकारी के अनुसार 31 मार्च 2021 तक पूरे देश भर में करीब 46 लाख 80 हजार भारतीय संपूर्ण डाक जीवन बीमा पॉलिसी धारक ब्यक्ति है।

संपूर्ण डाक जीवन बीमा ग्राम योजना इसकी अधिक जानकारी के लिए नीचे लिंक पर  क्लिक करें?