भारत में अभी भी लाखों परिवार ऐसे हैं। जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करते हैं। दिनभर मजदूरी करके वह अपने परिवार को चला रहे हैं। ऐसे परिवारों में ना केवल पुरुष बल्कि महिलाएं भी मजदूरी करती हैं। इन परिवारों में यदि दो-चार दिन मजदूरी ना मिले तो खाने-पीने की समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं। ऐसे परिवारों में जब कोई महिला गर्भवती होती हैं। तो उनकी समस्याएं और ज्यादा बढ़ जाती हैं।

एक तरफ जहां वह मजदूरी करने नहीं जा पाती हैं। वहीं दूसरी तरफ जच्चा बच्चा स्वस्थ रखने के लिए खर्चे बढ़ जाते हैं। ऐसे  परिवारों के लिए मध्य प्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने महिलाओं के लिए मुख्यमंत्री मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना 2022 की शुरुआत की है।

महिला श्रमिक को गर्भावस्था के अंतिम 3 महीनों में उनको मिलने वाली तनख्वाह का 50%  प्रसूति हितलाभ के रूप में प्रदान किया जाता है।  इसके साथ ही प्रसव के बाद ₹1000 की धनराशि चिकित्सा आदि खर्चे के रूप में प्रदान की जाती है। साथ ही योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने वाली महिलाओं  के पति को भी 15 दिन का पितृत्व लाभ भी प्रदान किया जाता है।

मध्य प्रदेश राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए श्रमिक महिला और उनके पति को पंजीकृत निर्माण श्रमिकों होना आवश्यक है।

Madhya Pradesh Prasuti Sahayata Yojana 2022) एक ऐसी योजना है, जिसके अंतर्गत प्रदेश की महिलाओं को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। प्रदेश की सभी ग्रामीण और नगरीय क्षेत्रों में पंजीकृत असंगठित श्रमिक महिलाओं को 1 अप्रैल 2022 से इसका लाभ मिलना शुरू हो चुका है।

योजना के अंतर्गत पात्र महिलाओं को लाभ प्रदान किया जाएगा। योजना के लाभ रूप में प्रस्तुत महिलाओं को गर्भावस्था के अंतिम 3 महीनों में उनको मिलने वाली तनख्वाह का 50% धन राशि प्रदान की जाएगी। साथ ही उन्हें ₹1000 की धनराशि चिकित्सा आदि खर्च के रुप में भी दी जाएगी। इसके साथ ही महिला श्रमिक के पति को भी 15 दिन का पितृत्व प्रसूति लाभ प्रदान किया जाएगा।

मध्य प्रदेश राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही मध्य प्रदेश मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना 2022। Madhya Pradesh Prasuti Sahayata Yojana 2022 का लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र लाभार्थी महिला श्रमिकों श्रमिक कार्यालय में प्रसव की तारीख से 6 सप्ताह पहले आवेदन करना चाहिए। यदि किसी कारणवश आवेदन समय पर नहीं किया जा सका है। तो डिलीवरी के पहले अथवा डिलीवरी के तुरंत बाद आवेदन कर देना चाहिए।

प्रसूति सहायता योजना की और अधिक जानकारी के लिए आप नीचे लिंक पर क्लिक करें?