TCS का पूरा नाम क्या है? | TSC Full Form In Hindi

TSC Full Form In Hindi :- TCS का नाम हमे अक्सर सुनने को मिल जाता है और फिर हम सोचने लगते है कि TCS क्या है? TCS की फुल्लफॉर्म क्या है? क्या आप भी TCS की फुल्लफॉर्म जानना चाहते हैं क्या आप जानना चाहते हैं कि आखिर ये TCS क्या है? तो आज की यह पोस्ट हम आपके लिए ही लाये हैं। हम आपको बतायेगे TCS Full form in Hindi और What is TCS in Hindi तो इसलिए आप इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें।

TCS क्या है? | What is TCS in Hindi

टीसीएस की शुरुआत 1968 में कंसलटेंसी से रिलेटेड काम के साथ हुई थी। शुरुआती समय में यह कंपनी टाटा स्टील के लिए कंसलटिंग का काम करती थी तथा वर्ष 1980 से TCS ने सॉफ्टवेयर के फील्ड में अपना काम करना शुरू किया।

टीसीए आज के समय में दुनिया की सबसे बड़ी आईटी कंपनीज में से एक है। जो आज दुनिया की सबसे वैल्युएबल कंपनीज में शामिल है। 2015 के फॉर्ब्स रैंकिंग के अनुसार इसे दुनिया की 64 वी सबसे बेहतरीन कंपनी माना गया है। इस कंपनी का हेड ऑफिस मुंबई में है। और पूरी दुनिया के 46 शहरों बड़े में इसके 149 से भी अधिक ऑफिस मौजूद हैं।

TCS का पूरा नाम क्या है? | Full form of TCS in Hindi

TCS (TATA CONSLTENSI SARVISE)

टीसीएस का इतिहास | history of TCS in Hindi

इसकी शुरुआत 1968 में हुई थी जो कंसलटेंसी से रिलेटेड काम करती थी शुरुआत में TSC कंपनी टाटा स्टील के लिए कंसलटिंग का काम करती थी और फिर 1980 के बाद से टीसीएस ने सॉफ्टवेयर के फील्ड में काम करना शुरू कर दिया।

TCS क्या काम करती है? | What does TCS do In hindi

TCS एक सॉफ्टवेयर प्रदाता कंपनी है, यह अपने ग्राहकों के लिए अलग सॉफ्टवेयर विकसित करके सप्लाई करती है। आज दुनिया की कोई भी बड़ी कंपनी, किसी भी फील्ड की हो, उसे अपनी कंपनी और काम को सही ढंग से चलाने के लिए कई सॉफ्टवेयर की जरूरत होती है।

दुनिया भर की बड़ी कंपनियों के लिए सॉफ्टवेयर बनाने और उनके कंपनी को सही ढंग से चलाने का काम TCS का ही करती है। इसके साथ ही टीसीएस बहुत सी संस्थाओं के लिए एग्जाम कंडक्ट करती है। इंडिया के बहुत सारे पासपोर्ट ऑफिस को भी टीसीएस ही चला रही है।

जैसे कि SBI बैंकिंग का पूरा सॉफ्टवेयर TCS ने ही विकसित किया है। जिसकी मदद से बैंक कर्मचारी अपने ग्रहको को आसानी सर्विस दे पाते है, और एक आम यूज़र भी एसबीआई के बैंकिंग application से आसानी से घर बैठे ऑनलाइन बैंकिंग का लाभ ले सकते हैं।

TCS की कुछ मुख्य बातें

  • मार्केट capitalization के अनुसार टीसीएस इंडिया की सबसे बड़ी software कंपनी है।
  • TCS दुनिया की सबसे बड़ी आईटी सर्विस प्रोवाइडर कंपनी में से एक है।
  • इसका काम एप्लीकेशन डेवलपमेंट और मेंटेनेंस है।
  • वर्ष 2004 में TCS एक पब्लिक लिमिटेड कंपनी बन गई, जिसका मार्केट कैनलाइजेशन आज 100 बिलियन से बहुत अधिक है।
  • इसके अलावा TCS भारत की सबसे बड़ी नौकरी प्रदाता निजी कंपनी है, जिसमें लगभग 4.5 लाख लोग नौकरी कर रहे हैं, जिसमें 36% से ज्यादा महिलाएँ काम करती हैं। TCS (टीसीएस) हर साल हजारों युवाओं को नौकरी देती है.
  • यह सॉफ्टवेयर और सर्विसेस कंपनी है, तो कंप्यूटर और आईटी सेक्टर के फील्ड में पढ़ाई करने वाले लोगों के लिए इस कंपनी में नौकरी के ज़्यादा चांसेस होते हैं।
  • इस कंपनी अपने रिक्वायरमेंट के अनुसार नोटिफिकेशन भी जारी करती है।
  • TCS (टीसीएस) फुल फॉर्म टैक्स कलेक्टेड at सोर्स

TCS Related FAQ in Hindi

TCS क्या है?

TCS एक सॉफ्टवेयर कंपनी है, जो अपने ग्राहकों के लिए सॉफ्टवेयर विकसित करके सप्लाई करती है।

TCS की शुरुआत कब से हुई?

टीसीएस की शुरुआत 1968 में हुई थी।

TCS सॉफ्टवेयर के फील्ड में कब आई?

साल 1980 के बाद से टीसीएस ने सॉफ्टवेयर के फील्ड में काम करना शुरू कर दिया।

SBI के लिए TCS ने क्या बनाया है?

TCS ने SBI बैंक का एप्पलीकेशन बनाया है ताकि बैंक के कर्मचारी आसानी से अपने ग्रहको को सभी सेवाएं दे सके।

निष्कर्ष

यहाँ अपने जाना कि TCS दुनिया की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनियों में से एक है जो सॉफ्टवेयर बनाती है। आज के समय मे इंडिया में मौजूद लगभग सभी पासपोर्ट ऑफिस को टीसीएस ही चला रही है।

इस कंपनी से बहुत सारे सॉफ्टवेयर बांये है जिसमे  SBI बैंकिंग सॉफ्टवेयर भी शामिल है। उम्मीद करते हैं आपको इस पोस्ट को पढ़ने में काफी मजा आया होगा और अपने काफी कुछ नया सीखा होगा। अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी तो हमे कमेंट करके जरूर बताएं। धन्यवाद

Leave a Comment