राजनीति क्या है? | राजनीति का अर्थ व परिभाषा क्या हैं?

हम सभी ने राजनीति का नाम तो अवश्य सुना होगा। हमारे देश में राजनीति एक ऐसी प्रक्रिया है जो हमेशा चलती रहती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि हमारा देश काफी जनसंख्या वाला देश है और क्षेत्रफल की दृष्टि से भी भारत काफी बड़ा देश है जिस वजह से हमारे यहां कई राज्य तथा केंद्र शासित प्रदेश हैं।

जिनके चुनाव का समय अलग-अलग है इस वजह से हमारे देश में किसी न किसी राज्य में चुनाव चलते ही रहते हैं। ऐसे में देश में चुनाव की वजह से राजनीति का माहौल हमेशा गर्म रहता है। हर 6 महीने में किसी न किसी राज्य या फिर केंद्र शासित राज्य में सरकारों में फिर बादल होते ही रहते हैं।

यह राजनीति हमारे हमारे समाज तथा देश में बहुत पुराने समय से चली आ रही है। लेकिन समय के साथ-साथ इसमें काफी बदलाव देखने को मिलते रहे हैं। जैसे-जैसे सरकारों ने नीतियों में बदलाव की हैं।

इससे राजनीति के तरीके में भी बदलाव देखने को मिला है। तो चलिए आज के आर्टिकल के माध्यम से हम राजनीति के बारे में जानेंगे। राजनीति क्या होती है? | Rajneeti kya hoti hai? राजनीति का अर्थ क्या होता है? Rajneeti की परिभाषा क्या होती है? तथा राजनीति से संबंधित कई और तथ्यों के विषय में भी जानेंगे। तो चलिए शुरू करते हैं।

राजनीति क्या है? | Rajneeti kya hai?

राजनीति दो शब्दों से मिलकर एक बना एक समूह है। जिसमें राज का मतलब “शासन” तथा नीति का मतलब “कार्य करने की उचित प्रणाली” होती है। अर्थात आज के समय के अनुसार समझा जाए तो हम जिस राज्य में रहते हैं। उस राज्य में शासन कर रहे सरकार के द्वारा राज्य के लोगों के कल्याण के लिए बनाई गई नीति राजनीति कहलाती है।

राजनीति के अंतर्गत हमारे समाज में रह रहे, उस समाज के लोगों को व्यवस्थित रखने के लिए बनाई गई नीतियां राजनीति के अंतर्गत आती हैं। इन नीतियों को हमारे राज्य के शासन द्वारा बनाया जाता है। जो तय करती है कि हमारे लिए क्या बेहतर और उचित है?.

राजनीति क्या है राजनीति का अर्थ व परिभाषा क्या हैं

दूसरे शब्दों में कहे तो हम जिस समाज में तथा जिस क्षेत्र में रह रहे हैं उस क्षेत्र के लोगों के आर्थिक तथा सामाजिक कल्याण के लिए बनाई गई नीतियां जिस शासन प्रक्रिया के द्वारा बनाई जाती हैं, वह राजनीति के अंतर्गत आता है। तथा उस समाज के लोगों के हित में तथा उनके सार्वजनिक स्तर को ऊंचा बनने के लिए बनाई गई नीति राजनीति कहलाती है।

राजनीति को समझने के लिए कई विद्वानों ने अपने-अपने विचार दिए हैं। जिन्होंने अपने समय की स्थिति को देखते हुए राजनीति को अपने अनुसार परिभाषित किया है। अर्थात हम राजनीति को समय तथा स्थिति के हिसाब से अलग-अलग तरह से समझ सकते हैं। जिसमें प्रत्येक व्यक्ति के विचार अलग-अलग हो सकते हैं।

राजनीति की परिभाषा क्या है? | Rajneeti ki paribhasha kya hai?

पुराने समय से चली आ रही राजनीति स्वतंत्रता, समता, न्याय जैसे विचारों तथा राज्य, सरकार, कानून जैसी संस्थाओं पर बल देती है। 20वीं सदी की राजनीति के अनुसार व्यवहारवाद प्रमुख रहा है। जिसने परंपरागत राजनीति से आधुनिक राजनीति के तरफ बढ़ाया है।

राजनीति को परिभाषित करने के लिए कई विद्वानों ने अपने-अपने विचार दिए हैं। जिसमें कुछ परंपरागत विचार तथा कुछ आधुनिक विचार हैं।

डॉक्टर चकरिया के शब्दों में राजनीति विज्ञान व्यवस्थित रूप से आधारभूत सिद्धांतों का निरूपण करता है। जिसके अनुसार समष्टि रूप से राज्य को संगठित किया जाता है। और वहां पर अपनी सट्टा का उपयोग किया जाता है।

गिलक्रिस्ट के अनुसार, “राजनीति विज्ञान वस्तुतः राज और सरकार की सामान्य समस्याओं का अध्ययन करती है। और उन समस्याओं का निवारण भी करती है”।

डेबिट इस्टन के अनुसार, “राजनीति विज्ञान समाज में मूल्य का सत्यात्मक विवरण है”।

ऐसे ही कई विद्वानों ने राजनीति पर अपने-अपने विचार रखें हैं। जोकि राजनीति को उनके मतों के माध्यम से परिभाषित करते हैं।

राजनीतिक का अर्थ क्या है? | What is the meaning of political?

राजनीति को अंग्रेजी में पॉलिटिक्स (Politics) कहते हैं पॉलिटिक्स से ग्रीक भाषा का शब्द है जॉकी राजनीति को व्यक्त करता है। लेकिन यदि हम राजनीति को हिंदी में समझे तो राजनीति दो शब्दों के योग है। जिसमें राज का अर्थ “राज्य” या “शासन” तथा नीति “किसी क्षेत्र में इस क्षेत्र के लोगों की बेहतरीन में बनाई गई नीति” है।

अर्थात पॉलिटिक्स किसी भी स्थिति में बनाई गई नीतियों को दर्शाती है। जो कि लोगों की भलाई के लिए बनाई जाती है।

किसी भी देश राज्य या फिर किसी राजकीय क्षेत्र में वहां के लोगों की बेहतरीन के लिए बनाई गई नीतियां तथा उनका उचित तरीके से लागू करना राजनीति के क्षेत्र में आता है। राजनीति के अंतर्गत जो भी लोग शासन करते हैं वह लोगों के मत को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए भिन्न-भिन्न तरह की पॉलिसी बनाते हैं।

जिनके माध्यम से वह लोगों को अपनी और आकर्षित कर उनके सहयोग से अपनी सत्ता स्थापित करते हैं। इस प्रक्रिया में जो भी नीतियां बनाई जाती हैं मैं सब राजनीति के अंतर्गत ही आती हैं।

Rajneeti kya hoti hai Related FAQ

राजनीति क्या है?

सरकार तथा शासन द्वारा जनता का नेतृत्व पाने के लिए जनता के हित तथा उनके आर्थिक तथा सामाजिक सुधार ब उनको अपनी ओर आकर्षित करने के लिए बनाई गई नीतियां राजनीति कहलाती है। किन्हीं पक्षो के बीच अपने नेतृत्व को स्थापित करने तथा जनता के सामने अपने पक्ष को बेहतर बनाने में जो प्रक्रिया अपनाई जाती है, उस प्रक्रिया को राजनीति कहते हैं।

राजनीति में भ्रष्टाचार का मुख्य कारण क्या है?

भारतीय राजनीति में भ्रष्टाचार का मुख्य करण देश में चल रहे चुनाव में अवैध रूप से खर्च होने वाला पैसे की कमी को पूरा करने के परिणाम स्वरूप राजनीति में भ्रष्टाचार होता है।

राजनेता कौन होता है?

राजनेता उसे व्यक्ति को कहते हैं जो सामान्यत राजनीतिक दर्शन के आधार पर राजनीतिक क्षेत्र में कभी भी नीतिगत समझौता नहीं करता है। तथा एक बेहतर लीडर के रूप में जो भी उसके कर्तव्य होते हैं उनका पूरी निष्ठा के साथ आवाहन करता है। तथा जनता के प्रति बेहतर नीतियां बनाता है।

निष्कर्ष

दोस्त आज के इस आर्टिकल में हमने आपको राजनीति के बारे में बताया। राजनीति क्या होती है? राजनीति का अर्थ क्या होता है? तथा राजनीति की परिभाषा क्या होती है? राजनीतिक से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में भी बताया। वैसे तो राजनीति के बारे में काफी लोग जानते होंगे।

लेकिन यदि इसे एक स्पष्ट भाषा में समझा जाए तो ज्यादातर लोगों को इसके बारे में जानकारी नहीं होती है। तो इस आर्टिकल के माध्यम से हमने इसको आसान भाषा में समझाने की कोशिश की है। जो कि आपको राजनीति के बारे में बेहतर ज्ञान प्रदान करावेगी। आशा करते हैं इस आर्टिकल में बताई गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और यदि पसंद आई हो तो ऐसे अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें।

Leave a Comment