PSI Full Form | PSI क्या होता है और PSI के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में?

PSI वर्ड तो आपने जरूर सुना ही होगा। यह एक ऐसा शब्द है जो सभी लोग कही ना कहि से सुन ही लेते है। खासतौर पर जिनका घर पुलिस चौकी या थाने के आसपास रहता है उन लोगो को तो रोज ही PSI शब्द सुनाई देता है। PSI यह एक पोस्ट है जो पुलिस भर्ती में दी जाती है। वैसे तो यह अच्छी खासी पोस्ट है क्योंकि इस पोस्ट को पाने के लिए बहुत मेहनत और पढ़ाई करनी पड़ती है। PSI शब्द बहुत लोगो ने सुना हुआ रहता है परंतु इस बात का दुख भी है कि उनमें से अधिकतर लोग PSI का full form ही नही जानते है। यदि आप लोग भी PSI का full form नही जानते है तो कोई बात नही हम basguide.com पर आपको आज के इस लेख में इसका फुल फॉर्म बता देंगे।

PSI Full Form क्या है?

हमे पता है कि आप PSI का full form जानने के लिए बेहद उत्सुक है। हम इस लेख में आपको PSI का full form जरूर बताएंगे। परंतु यदि आप इस वेबसाइट पर PSI का फुल फॉर्म जान जाएंगे तो इस full form को अन्य लोगो तक जरूर शेयर करे, ताकि और लोग भी PSI का full form जान पाए। तो चलिए अब हम आपको PSI का full form बताने जा रहे है। इस full form को दिमाग मे अच्छे से फिट कर ले ताकि कभी कोई आपसे PSI का full form पूछे तो आप उसे पूरे confidence से बता पाए।

हम आपको PSI का full form हिंदी और english इन दोनों भाषाओं में बताने वाले है ताकि आपको इन दोनों भाषाओं में इसका full form पता हो। Full Form को जानने के लिए नीचे का लेख पढ़ें।

चलिए अब हम आपको PSI के full form के बारे में बताते है। हम आपको PSI का full form हिंदी और इंग्लिश इन दोनों भाषाओं में बता रहे है। इस full form को हमेशा के लिए याद रखना बेहद जरूरी है।

PSI Full Form In English

PSI – Police Sub-Inspector

PSI Full Form In Hindi

PSI – पुलिस उप-निरीक्षक

PSI क्या होता है?

PSI क्या होता है यह बहुत से लोगो को पता ही नही रहता है, बहुत कम लोगो को PSI के बारे में जानकारी पता रहती है। तो चलिए अब हम आपको बताते है कि PSI क्या होता है।

Police Sub Inspector सबसे कम रैंकिंग वाला अधिकारी है जो भारतीय दंड संहिता के तहत अदालत में चार्जशीट दायर कर सकता है। अधीनस्थ केवल उप-निरीक्षक की ओर से एक मामले की जांच कर सकते हैं और चार्जशीट दायर नहीं कर सकते। सब-इंस्पेक्टर रैंकिंग सहायक उप-निरीक्षक से ऊपर और निरीक्षक से नीचे है।

अन्य कम रैंकिंग वाले पुलिस अधिकारियों की तुलना में उच्च शैक्षणिक योग्यता वाले उम्मीदवार सीधे Police Sub Inspector के पद के लिए चुने जाते हैं।

PSI के लिए आवश्यक पात्रता क्या है?

पुलिस सब-इंस्पेक्टर बनने के लिए, उम्मीदवारों को SI परीक्षा के लिए पहले आवेदन करना होगा। यह परीक्षा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित की जाती है। इस परीक्षा के लिए क्या आवश्यक पात्रता होती है इसके बारे मे हम आपको नीचे बता रहे है।

1. किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय / संस्थान से 50% अंकों के साथ किसी भी विषय में स्नातक डिग्री होना चाहिए।

2. उम्मीदवार को भारत का नागरिक होना आवश्यक है।

3. अभ्यर्थी की चेस्ट की ऊंचाई 80-85 सेमी के साथ 170 सेमी होनी चाहिए।

4. दिल्ली पुलिस पद के मामले में, उम्मीदवार को PET परीक्षणों के लिए LMV (मोटरसाइकिल और कार) के वैध ड्राइविंग लाइसेंस जमा करना आवश्यक है और यदि वह नही जमा करते है तो उम्मीदवार को PTE परीक्षण से गुजरने की अनुमति नहीं होगी।

5. उम्मीदवारों की न्यूनतम आयु 19 वर्ष और अधिकतम आयु 28 वर्ष होनी चाहिए।

PSI की सैलरी कितनी होती है?

बहुत से लोगो को PSI की सैलरी के बारे में पता नही रहता है तो चलिए आज हम आपको पुलिस उप निरीक्षक के सैलरी के बारे में बताते है।

PSI को 9300-34800 मूल वेतन + 4300-ग्रेड वेतन मिलता है। 01.01.2016 के बाद महाराष्ट्र पुलिस सब इंस्पेक्टर  के लिए मूल वेतन 34900 तक बढ़ा दिया गया है और ग्रेड वेतन, महंगाई भत्ते, चिकित्सा भत्ता जैसे सभी भत्तों को मूल वेतन में बाहर रखा गया है। MPSC महाराष्ट्र पुलिस सब इंस्पेक्टर की सैलरी को सातवें वेतन आयोग के बाद बढ़ाया जाएगा। सातवें वेतन के बाद महाराष्ट्र पुलिस सब इंस्पेक्टर  के लिए अपेक्षित वेतन या Pay Scale  रु 42800 –  रु 56000 है जो वर्तमान वेतन से बहुत अधिक है।

PSI को कौनसा काम करना पड़ता है?

यदि बात PSI के काम की आती है तो PSI को जरूरी काम ही करने को दिए जाते है। इनके हाथों में अच्छी पावर होती है क्योंकि पुलिस सब-इंस्पेक्टर पुलिस विभाग की रीढ़ है। वह सभी प्रकार के पुलिस कार्य करने वाले सबसे सक्रिय अधिकारी हैं। इसमें मुख्य रूप से नीचे दिए गए काम शामिल है।

1. हाउस ड्यूटी- शिकायत दर्ज करना, एफआईआर और एनसी शिकायत दर्ज करना और संज्ञेय अपराधों की जांच करना। न्यायालय में इसका तार्किक अंत होने तक इसका पालन करना।

2. सार्वजनिक कार्यक्रमों और वीआईपी आंदोलनों आदि के दौरान कानून और रखरखाव ड्यूटी करना।

3. रिमांड और सबूत के लिए कोर्ट में उपस्थित होना।

4. थाना क्षेत्र में गश्त रखना।

5. अपराध और अपराधियों के बारे में खुफिया जानकारी का संग्रह करना।

6. वरिष्ठों द्वारा सौंपा गया कोई भी काम को पूरा करना।

Conclusion –

आज के इस लेख में हमने आपको PSI का full form क्या होता है, PSI की सैलरी क्या होती है और इन्हें कौन सा काम करना पड़ता है, इन सभी के बारे में जानकारी हमने आपको दे दी है। हम आशा करते है कि आपको आज का लेख बहुत पसंद आया होगा। यदि यह लेख आपको पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here