MPSC Full Form In Hindi – एमपीएससी क्या होता है, एमपीएससी का मतलब हिंदी में

आज के इस लेख में हम आपको MPSC के बारे में जानकारी देने वाले है। बहुत से लोगो ने MPSC का नाम तो सुना रहता है, परंतु उनको MPSC के बारे में ज्यादा जानकारी नही रहती है। तो इसी कारण आज हम basguide.com पर MPSC से जुड़ी सारी जानकारी आपके साथ शेयर करने वाले है, जैसे कि MPSC का full form क्या होता है? MPSC आखिर होता क्या है? और भी इससे जुड़ी हुई बहुत सारी जानकारी आपको मिलेगी। चलिए अब हम आपको MPSC के बारे में बताते है।

MPSC Full Form क्या है?

बहुत से लोग यह सोचते रहते है कि आगे जाकर उन्हें MPSC की exam देना है, परंतु उनमें भी ऐसे कई लोग रहते है जिन्हें MPSC का full form ही पता नही रहता है। इसीलिए हम आज के इस लेख में सबसे पहले आपको MPSC के full form के बारे में ही बताने वाले है। तो चलिए अब MPSC का full form जानते है।

MPSC  का full form हम आपको english और साथ ही हिंदी इन दोनों भाषाओं में बताने वाले है ताकि आगे जाकर आपको कोई MPSC का full form पूछे तो आपको शर्मिंदा न होना पड़े।

MPSC Full Form In English

MPSC – Maharashtra Public Service Commission.

MPSC Full Form In Hindi

MPSC – महाराष्ट्र लोक सेवा आयोग

MPSC क्या होता है ?

हमने आपको ऊपर MPSC के full form के बारे में बता दिया है। तो अब MPSC आखिर होता क्या है यह सवाल भी बहुत लोगो के दिमाग मे घूमता रहता है तो चलिए अब हम आपको MPSC क्या होता है इसके बारे में भी बता देते है।

महाराष्ट्र लोक सेवा आयोग (MPSC) महाराष्ट्र राज्य में विभिन्न भर्ती परीक्षाओं का एक आयोजन निकाय है। यह एक भर्ती पोर्टल के रूप में कार्य करता है जिसमें राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में नौकरियों की पेशकश की जाती है। हर साल, महाराष्ट्र सरकार MPSC परीक्षा आयोजित करती है, जिसके माध्यम से वह अपने विभिन्न विभागों जैसे प्रशासन, पुलिस, वन और इंजीनियरिंग के तहत योग्य उम्मीदवारों का चयन करती है।

MPSC का Syllabus क्या होता है?

आपने MPSC का full form और MPSC क्या होता है यह तो जान ही लिया है तो अब हम आपको MPSC के syllabus के बारे में भी थोड़ी जानकारी दे देते है, ताकि जब भी आप भविष्य में इस exam को देने के बारे में सोचेंगे तो आपको ज्यादा परेशानी का सामना नही करना पड़ेगा। तो चलिए अब MPSC के syllabus के बारे में जानते है।

प्रारंभिक परीक्षा के लिए पाठ्यक्रम: – प्रारंभिक परीक्षा में चार पेपर होते हैं यानी सामान्य ज्ञान, सामान्य अंग्रेजी, सामान्य मराठी और सामान्य अध्ययन।

प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवार मुख्य परीक्षा के लिए अर्हता प्राप्त करते हैं। मुख्य परीक्षा में, छह पेपर होंगे; दो भाषाओं के पेपर (अंग्रेजी और मराठी) और चार पेपर सामान्य अध्ययन में। चार पेपर नीचे दिए गए हैं: –
• इतिहास और भूगोल (महाराष्ट्र के संदर्भ में)
• भारतीय संविधान और राजनीति
• मानव संसाधन विकास और मानव अधिकार
• अर्थव्यवस्था और योजना, विकास और कृषि और विज्ञान और प्रौद्योगिकी विकास का अर्थशास्त्र।

MPSC की पढ़ाई कैसे करे?

MPSC का सिलेबस जानने के बाद इसकी पढ़ाई कैसे करे यह जानना भी आवश्यक रहता है। क्योंकि बहुत से लोग यह exam देने की सोच लेते है परंतु इस exam की पढ़ाई कैसे करे इसके बारे में उन्हें पता ही नही रहता है। तो चलिए अब जानते है कि MPSC की पढ़ाई कैसे करे।

MPSC परीक्षा को क्रैक करने के लिए आवश्यक सुझावों के साथ एक उचित योजना होना बेहद जरूरी है। क्योंकि MPSC भारत में सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है, इसलिए छात्रों को MPSC कोचिंग के लिए किसी भी शीर्ष संस्थान से कोचिंग लेने की सलाह दी जाती है।

उम्मीदवारों को लेखन कौशल में सुधार करना चाहिए क्योंकि परीक्षा में अंग्रेजी और मराठी जैसे महत्वपूर्ण पेपर शामिल हैं, दोनों प्रश्नपत्रों में व्यक्तिपरक प्रश्न पूछे जाते हैं। सुनिश्चित करें कि आपके पास सबसे अच्छे लेखकों की किताबें हैं जो आपके द्वारा चुने गए विषयों के संपूर्ण भागों को कवर करती हैं। पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों का जिक्र करना भी महत्वपूर्ण है और उनकी उपेक्षा नहीं की जा सकती।

MPSC Exam देने के लिए आवश्यक पात्रता क्या है?

ऊपर दी गई जानकारी जितनी महत्त्वपूर्ण है उतनी ही महत्वपूर्ण है इस परीक्षा को देने की पात्रता होना। यदि आप इस MPSC Exam को देने की पात्रता के मानदंडों को पूरा नही करते है तो आप यह परीक्षा नही दे सकते है। तो चलिए अब इसके पात्रता के बारे में जान लेते है।

मानकों को MPSC भर्ती परीक्षा आयोजित करने वाले आयोग द्वारा परिभाषित किया गया है। प्रतिभागियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे संबंधित पदों के लिए आवेदन करने से पहले विभिन्न पदों के लिए न्यूनतम पात्रता मानदंडों को पूरा करते हैं। पात्रता मानदंड इस प्रकार है।

1. राष्ट्रीयता

2.एक व्यक्ति को एमपीएससी  के लिए पात्र होने के लिए भारत का नागरिक होना चाहिए।

3. केवल वे आवेदक जो महाराष्ट्र राज्य में स्थायी रूप से अधिवासित हैं, वही आवेदक आरक्षण का लाभ उठा सकते हैं।

4. निचली आयु सीमा 18 वर्ष की आयु में निर्धारित की जाती है इसी कारण आपकी आयु 18 वर्ष से ऊपर होनी चाहिए और परीक्षण के लिए निर्धारित ऊपरी आयु सीमा  सामान्य श्रेणी के लिए 33 वर्ष है।

Conclusion – 

आज के इस लेख में हमने आपको MPSC  Full Form In Hindi , MPSC क्या होता है, इसकी पढ़ाई कैसे करे और इसकी आवश्यक पात्रता क्या रहती है इसके बारे में पूरी जानकारी दी है। हम आशा करते है कि आपको आजका लेख बहुत पसंद आया होगा। यदि आप लोगो को यह लेख पसंद आया हो तो इसे social मीडिया पर जरूर शेयर करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here